Breaking News 🛑 छत्तीसगढ़ की इस नदी में डूबने से एक ही परिवार की तीन किशोरियों की मौत, विरोध में किया चक्का जाम

<em>Breaking News 🛑 छत्तीसगढ़ की इस नदी में डूबने से एक ही परिवार की तीन किशोरियों की मौत, विरोध में किया चक्का जाम</em>



सीजी न्यूज आनलाईन डेस्क,17 जुलाई। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिला अंतर्गत कोनी थाना क्षेत्र में एक ही परिवार की तीन किशोरियों की अरपा नदी में डूबने से मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि नदी में नहाते वक्त यह हादसा हुआ है।
मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर के सेंदरी इलाके में 3 बहनें सहित पांच नदी में नहाने गई थीं। तीनों बहनों का शव नदी से रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया गया है। इनका नाम पूजा पटेल, धनेश्वरी पटेल और रितु पटेल है।
ग्रामीण बता रहे कि रेत के अवैध उत्खनन के कारण यह मौत हुई है। रेत के अवैध उत्खनन से नदी किनारे भी गहराई बढ़ गई है, इसी कारण हादसा होना बताया जा रहा है।

एडिशनल एसपी सिटी राजेंद्र जायसवाल ने बताया पुलिस को सुबह सूचना मिली कि कोनी थाना क्षेत्र की निवासी पांच लड़किया जिनमे एक बालिग और सभी चार नाबालिक अरपा नदी में नहाने के लिए गई थी, पानी के तेज बहाव के कारण सभी नदी में डूब गई जैसे तैसे कर दो लड़कियां बाहर आने में कामयाब हो गई। वही तीन का अता पता नहीं चल पा रहा था। जिसके बाद तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस ने एसडीआरएफ की टीम को बुलाकर तीनों की तलाश करवाया इधर कुछ देर की खोजबीन के बाद पता चला कि तीनों लड़कियों की अरपा नदी में हुए गहरे गड्ढे में डूबने से मौत हो गई थी। एसडीआरएफ ने तीनों का शव बरामद कर लिया है।

नदी में उत्खनन से हुई मौत, चक्काजाम

मृतक लड़कियों के परिजनों और आसपास के नाराज लोगों ने अरपा नदी में लगातार हो रहे उत्खनन का आरोप लगाते हुए चक्काजाम कर दिया है। उनका कहना है कि उत्खनन माफियाओं द्वारा अरपा नदी से रेत निकालने की वजह से हुए गड्ढे में डूबने के कारण बच्चियों की मौत हुई है। इधर लगभग 10:00 बजे से मौके पर नाराज लोगों ने कोनी सेंदरी रोड़ पर चक्काजाम कर दिया है सीएसपी कोतवाली पूजा कुमार ने बताया कि पुलिस और जिला प्रशासन की टीम चक्का जाम कर रहे लोगों को समझाइश दे रही है। खबर लिखे जाने तक चक्का जाम की स्थिति बनी थी।

मृतकों का नाम का नाम.

पूजा पटेल पिता सुशील पटेल 18 साल

रितु पटेल पिता सुशील पटेल 14 साल

धनेश्वरी पटेल पिता मंदू पटेल 11 साल