Bhilai Breaking 🛑 भिलाई में देर रात पत्नी पर बसुले से जानलेवा हमला, सास की चीख सुन बहू बचाने गई तो ससुर ने कहा – “हट नहीं तो‌ जान से मार दूंगा”

Bhilai Breaking 🛑 भिलाई में देर रात पत्नी पर बसुले से जानलेवा हमला, सास की चीख सुन बहू बचाने गई तो ससुर ने कहा – “हट नहीं तो‌ जान से मार दूंगा”



भिलाई नगर, 11 जुलाई। मंगल-बुधवार की दरमियानी रात सास की जमकर पिटाई कर रहे ससुर को जब बहू ने रोकना चाहा तो उसे भी जान से मारने की धमकी मिली। अपनी जान बचा कर पड़ोसियों से मदद की गुहार लगा रही बहू ने देखा कि उसके ससुर ने सासु पर लकड़ी छीलने वाले बसुले से वार कर दिया है। आनन फानन घायल सास को पड़ोसियों की मदद से हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। घटना दुर्ग जिले के भिलाई स्थित कैम्प-1 क्षेत्र की है। छावनी पुलिस आरोपी के खिलाफ बीएनएस की धारा 109 के तहत जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।
छावनी थाना प्रभारी चेतन चंद्राकर ने बताया कि नेहरू चौक कैम्प-1 में स्वरधारा टेंट हाउस के पास निवासी रेवती जामुलकर अपने पति बच्चों एवं सास उत्तरा बाई, ससुर राधेश्याम के साथ रहती हूं। उसके पति ड्रायवरी काम करते हैं और मंगलवार को काम से गांव गये हुए थे। मंगलवार की रात्रि में खाना खाकर रेवती बच्चों के साथ अपने कमरे में सोने चली गयी जबकि सास ससुर घर के परछी में सोये थे। सास ससुर का घरेलू पारिवारिक बातों को लेकर अक्सर विवाद होता है। रात करीबन 2 बजे के बाद रेवती ने सास की जोर जोर से बचाओ बचाओ की आवाज सुनी और वह कमरे से बाहर निकली तो ससुर राधेश्याम हाथ में लोहे का बसुला लेकर उत्तरा को जान से मारने की नियत से लगातार प्राणघातक वार कर रहे थे। जब रेवती बचाने के लिये गयी तो ससुर ने कहा तू भाग जा नहीं तो तेरे को भी जान से मार डालूंगा। वह डर के कारण पड़ोस में रहने वाले संजय सहारे को बुलाई और सास ससुर को अलग कर बीच बचाव किया। राधेश्याम जामुलकर द्वारा बसुले से मारने पर उत्तरा के सिर पर गंभीर चोट आयी थी और वह खून से लथपथ थी। तत्काल एंबुलेस बुलाकर उत्तरा को लाल बहादुर शासकीय अस्पताल सुपेला लेकर गये जहां डाक्टरों ने जिला अस्पताल दुर्ग रेफर कर दिया। दुर्ग में उत्तरा का ईलाज जारी है।